इलाहाबाद के एक ही घर से बरामद हुई पति-पत्नी और तीन बच्चियों की लाश

143
देश में एक ही परिवार के लोगों द्वारा सामूहिक हत्या/आत्महत्या करने का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है। दिल्ली के बुराड़ी इलाके से शुरू हुआ सामूहिक आत्महत्या का सिलसिला झारखंड से होते हुए उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद पहुंच गया है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक सोमवार को उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद में एक घर से एक ही परिवार के पांच सदस्यों के शव मिले है।
प्रॉप्त जानकारी के अनुसार  इलाहाबाद शहर के धूमनगंज थाना क्षेत्र के पीपलगांव में सोमवार की देर रात मनोज कुशवाहा(35 वर्ष) और पत्नी श्वेता कुशवाहा(30 वर्ष) के अलावा इनकी तीन बेटियों का शव बरामद किया गया। सबसे बड़ी बेटी प्रीति की उम्र थी 8 साल, शिवानी नाम की दूसरी बेटी की उम्र 6 साल और सबसे छोटी बेटी श्रेया की उम्र थी 3 साल। एक ही परिवार के इन पांच लोगों की एक रात में इस इतनी भयानक मौत हो जाने से आसपास के सभी लोग दहशत में है।
आपकों बता दें कि वारदात वाले घर पर पुलिस ने पहुंचकर जब घर का दरवाजा तोड़ा तो उन्हें सबसे पहले घर के मुखिया मनोज कुशवाहा का शव पंखे पर लटकता मिला। इसके बाद घर की मुखिया की पत्नी का शव घर के फ्रिज के अंदर रखा हुआ था। पुलिस ने मृतक पति-पत्नी के अलावा उनकी तीन बेटियों का शव भी घर से बरामद किया है। इनमें से एक बेटी का शव सूटकेस से, दूसरी का अलमारी से और तीसरी बेटी का शव एक दूसरे कमरे से बरामद किया गया।
खबरों के मुताबिक पुलिस ने एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत के पीछे पारिवारिक विवाद होने की आशंका जताई है। पुलिस का कहना है कि मृतक मनोज कुशवाहा का उनके परिवार के अन्य सदस्यों के साथ एक लंबे समय से विवाद चल रहा था। इस विवाद के चलते मनोज कुशवाहा मानसिक तनाव में रहने लगे थे। अब इस आधार पर पुलिस ने आशंका जताई है कि मनोज ने पहले अपनी पत्नी और तीनों बेटियों को मारा और फिर खुद भी फांसी लगा ली होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here