दुल्हन के ज्यादा WhatsApp चलाने की लत की वजह से दुल्हे पक्ष ने किया शादी से इंकार

221
हमारा समाज आधुनिक हो रहा है और नतीजतन इस समाज मे रहने वाले लोगों की समस्याएं भी आधुनिक हो रहीं हैं। हमारे ऐसा कहने के पीछे की वजह क्या है? तो जनाब हमारे इस मत के पीछे की वजह एक अजीबोगरीब खबर है जो उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले से आई है। मीडिया में छपी खबर के मुताबिक अमरोहा जिले में स्थित नौगांव सादत गांव से एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां दूल्हे पक्ष ने यह कहते हुए शादी तोड़ दी कि दुल्हन बहुत ज्यादा WhatsApp चलाती है। इधर दुल्हन शादी की मंडप में बैठें-बैठें दूल्हे के आने की राह तकती रही और उधर दूल्हे पक्ष ने बारात लाने की बजाय फोन पर ही दुल्हन के हद से ज्यादा WhatsApp चलाने की लत को वजह बताते हुए शादी रद्द कर दी।
क्या हुआ? सुनकर झटका लग गया न आपको। वैसे झटका लगना सामान्य भी है क्योंकि ख़बर ही इतने झन्नाटेदार है। अब तक हमें किसी लड़कीं की शादी के टलने के हजार कारण सुन रखें हैं लेकिन किसी दिन दुल्हन के WhatsApp की उसकी शादी टूटने का कारण बन जाएगी। ऐसी कल्पना तो हम में से किसी ने नही की होगी। लेकिन अगर दूल्हे की माने तो उसकी होने वाली दुल्हन WhatsApp पर हद से ज्यादा समय खर्च करती थी। लड़कें वालों का कहना है कि शादी होने से पहले ही लड़की ने उनके रिश्तेदारों तक को मैसेज भेजना शुरू कर दिया था। और लड़की यही बात लड़के के परिवार वालों को नागवार गुजर गई। इसके बाद नतीजा हम सभी के सामने है।
लेकिन ठहरिए, अब तक जो आपने पढ़ा वो सिक्के का दूल्हे पक्ष वाला यानी पहला पहलू ही है। इस सिक्के का दूसरा यानी दुल्हल पक्ष का पहलू इस शादी के टूटने की एक अलग वजह ही बताता है। दुल्हन के परिवार के मुताबिक, शादी तोड़े जाने की असल वजह दहेज है। लडकी वालों के मुताबिक उन्होंने ने फकीरपुरा के कमर हैदर के बेटे के साथ बेटी की शादी तय की थी। शादी के दिन उनके रिश्तेदार और दोस्त पहुंच भी गए थे। लड़की के पिता उरोज मेहंदी ने दूल्हे के परिवार के खिलाफ मामला दर्ज कराया है और कहा है कि उनसे 65 लाख रुपये दहेज की मांग की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here