पाकिस्तान हाई कमीशन के बाहर सुरक्षा में तैनात CRPF के जवानों का जवाब उनकी सहनशीलता का सबसे बड़ा प्रमाण है

पुलवामा आतंकी हमले में 44 जवानों की शहादत के बाद देश में उपजे गुस्से के बीच पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लग रहे हैं। लेकिन नई दिल्ली में पाकिस्तान हाई कमीशन के बाहर सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दी गई है। इस हाई कमीशन के बाहर सुरक्षा में लगाए गए हैं CRPF के जवान। जी हां, जिन सीआरपीएफ जवानों को अपनी जान गवानी पड़ी उन्हीं के साथ वाले CRPF जवानों को पाकिस्तान हाई कमीशन की सुरक्षा में लगाया गया है।

इस तरह के कदम से एक मैसेज तो साफ तौर पर भेजा गया है कि कर्तव्य भावनाओं से ऊपर है। भले ही आज देश की जनता भावनाओं को तवज्जो दे रही हो मगर हमारे देश के जवान अब भी भावनाओं को दरकिनार कर अपने कर्तव्य को तवज्जो दे रहे हैं।

CRPF के जवान ने मीडिया से कहा, “हम गुस्से में तो हैं लेकिन हमारे लिए कर्तव्य पहले है। हमें अपने गुस्से और भावनाओं को नियंत्रित करना है क्योंकि हमारे लिए जिम्मेदारी हर चीज से ऊपर है। हम सैनिक हैं। रक्षा करना हमारा कर्तव्य है, भले ही हम गुस्से में हों।” एक अन्य सीआरपीएफ के जवान ने कहा, “रक्षा करना हमारा कर्तव्य है और एक सैनिक के लिए जिम्मेदारी हर चीज से ऊपर होती है।”

No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.