भाजपा के इस विधायक ने मंदिर के प्रसाद के साथ बांटी शराब

65
नरेश अग्रवाल का नाम तब राष्ट्रीय मीडिया में सुर्खियों में छाया था, जब उन्होंने राज्यसभा में “व्हिस्की में विष्णु बसें, रम में श्रीराम, जिन में माता जानकी और ठर्रे में हनुमान। सियावर रामचंद्र की जय” कहा था। उस समय नरेश अग्रवाल समाजवादी पार्टी में थे और फिलहाल भाजपा में है। लेकिन लगता है कि पार्टी बदल लेने के बावजूद उनकी विचारधारा नहीं बदली है।
भाजपा के नेता कभी अपने बयान और कभी अपने कांड के चलते अपनी पार्टी के लिए मुसीबतें खड़ी करते रहते हैं। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के हरदोई में भारतीय जनता पार्टी के विधायक नितिन अग्रवाल और उनके पिता नरेश अग्रवाल द्वारा मंदिर के प्रसाद जैसी पवित्र चीज के साथ शराब की बोटलें बांटने का मामला सामने आया है। प्रसाद के साथ शराब बांटने के इस मामले के सामने आने के बाद भाजपा पर सिर्फ विपक्षी दल के नेता ही नहीं तो पार्टी के अपने नेताओं ने भी नितिन अग्रवाल और नरेश अग्रवाल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
मंदिर में प्रसाद के साथ शराब बांटने की घटना से जुड़ी तस्वीरों के मीडिया में आने के बाद हरदोई से बीजेपी सांसद अंशुल वर्मा ने विधायक नितिन अग्रवाल और उनके पिता नरेश अग्रवाल की इस हरकत की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कर दी है। एएनआई से बातचीत में अंशुल वर्मा ने कहा, ” मैं इसकी जानकारी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को दूंगा। गलती सुधारने के लिए भाजपा को दोबारा से सोचना पड़ेगा।”
प्रसाद के साथ शराब बांटने की घटना के चलते लोगों के अंदर भाजपा को लेकर भड़के गुस्से के चलते अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए अंशुल वर्मा ने कहा, “जिन बच्चों को पेन और कॉपी दी जानी चाहिए, उन्हें शराब की बोतल दी गई है। स्थानीय प्रशासन ने यह कैसे होने दिया? एक्साइज डिपार्टमेंट ने इतने बड़े पैमाने पर शराब कैसे बंटने दी? इसको लेकर भाजपा को सोचना चाहिए।”
खबर के मुताबिक, रविवार के दिन हरदोई के श्रवण देवी मंदिर में स्थानीय पासी समुदाय के लोगों के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। पूजा खत्म होने के बाद प्रसाद का वितरण किया गया। और जब प्रसाद के डब्बे को खोल कर देखा गया, तब उसमें पूड़ी-भाजी के साथ ही शराब की बोटलों को देख कर सबकी आंखे खुली की खुली रह गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here