मिलिए कोयंबटूर के सबसे युवा कमिश्नर से कैसे यूनिक प्लान B आइडिया से डॉक्टर से IAS बने

संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं की तैयारी करने वाले के लिए बैकअप कैरियर योजना कुछ ऐसा है जिसपर विचार करने के लिए वो अनिच्छुक होंगे। ऐसे अधिकांश विकल्प कॉर्पोरेट नौकरी से सरकारी असाइनमेंट तक होंगे।
यद्यपि, डॉक्टर विजय कार्तिकेयन के लिए उनका B प्लान मेडिसिन था। जबकि वह एक आईएएस ऑफिसर बनने की चाह रखते थे। The Better India से हुए बातचीत में डॉ विजय कार्तिकेयन परीक्षा में उपस्थित होने, अवधि के दौरान परीक्षण तथा समस्याओं और अब कोयंबटूर सिटी मुनिसिपल कॉर्पोरेशन के एक कमिश्नर के तौर पर अपने अनुभव की पूरी कहानी बताते हैं।
शहर के सबसे युवा कमिश्नर के रूप में, डॉ विजय कार्तिकेयन ने अपने छोटे करियर अवधि में अत्यधिक सफलता हासिल की है। कई किताबों के लेखक डॉ कार्तिकेयन अपने नवीनतम किताब Once Upon an IAS Exam में एक आईएएस उम्मीदवार Vishy के जीवन को टटोलते हैं।
प्रारंभिक प्रेरणा
डॉ कार्तिकेयन के पिता इंडियन फॉरेस्ट सर्विस में काम करते थे। सर्विस को ज्वाइन करने के लिए अपने पिता को देखना उनके लिए सबसे बड़ा प्रेरणा का स्रोत था। डॉ कार्तिकेयन कहते हैं कि,” मैंने उनको(पिताजी) आदिवासी विकास और इको टूरिज्म के क्षेत्र में लगातार काम करते हुए देखा। मैंने सोचा कि सर्विस जो प्लेटफॉर्म प्रदान करता है वह विशाल है और जब आप अंदर आते हैं तो आप बहुत कुछ कर सकते हैं।”
वह आगे कहते हैं, “मैं हमेशा से जानता था कि परीक्षा में सफलता प्राप्त करना बेहद मुश्किल था और इसलिए एक B प्लान की आवश्यकता थी। मेडिसिन ने भी मुझे लोगों के साथ बातचीत का एक मौका दिया और किसी भी तरह से मदद किया।”
परीक्षा की तैयारी
मेडिसिन की पढ़ाई में 5 साल गुजारने के बाद डॉ विजय कार्तिकेयन के लिए लंबे समय तक कड़ी मेहनत करना कोई नई बात नहीं थी। मेडिकल स्कूल से ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने सिविल सर्विस एग्जाम में हाथ आजमाया लेकिन दुर्भाग्य से वह परीक्षा पास नहीं कर सके। तब उन्हें एहसास हुआ कि सफलता हासिल करने के लिए एक प्लान की जरूरत थी। औसतन, वह परीक्षा के लिए रोज़ाना 7 से 8 घंटे की पढ़ाई किया करते थे।
उनका मानना था कि हर चीज का कुछ जानना इस परीक्षा के लिए आवश्यक था। किसी के लिए भी हर चीज के बारे में हर चीज जानना असंभव है। इसलिए उन्होंने महसूस किया कि यह बेहतर है कि हर चीज का कुछ जरूर जानें। वो कहते हैं कि मेडिसिन में 5 साल की ट्रेनिंग ने उन्हें अत्यधिक मदद की। इसने मुझे बहुत व्यवस्थित तरीके से जानकारी और अध्ययन करने की क्षमता दी। उदाहरण के तौर पर, अगर 25 पेज का 1 चैप्टर मैं पढ़ रहा था, तो मैं इसे सभी काम करने योग्य बिंदुओं में समेकित करने में सक्षम था।” इसने उन्हें सब कुछ के बारे में बहुत कुछ अधिक कुशलता से याद रखने की क्षमता भी दी।
‘People Skills’ का महत्व
जब वह मेडिसिन की पढ़ाई कर रहे थे उन्होंने प्रश्नोत्तरी और बहस में भाग लेकर अच्छा खासा समय पर्सनालिटी डेवलपमेंट पर बिताया। डॉ कार्तिकेयन कहते हैं, ” लोगों के साथ बातचीत करने के तरीके सीखना बेहद जरूरी है। प्रतियोगिताओं में भाग लेना प्रमुख है। बहस, प्रश्नोत्तरी, सार्वजनिक भाषण और रचनात्मक लेखन बहुत महत्वपूर्ण हैं। सेवा का हिस्सा होने के नाते, किसी को विभिन्न प्रकार के लोगों से मिलना पड़ता है और उन्हें समझने और उनके साथ मिलाने की क्षमता आवश्यक है।
उनकी पुस्तक- Once Upon an IAS Exam
यह पुस्तक आपको उस नायक के साथ भावनात्मक सवारी पर ले जाती है। Vishy, जिसका सबसे बुरा सपना – यूपीएससी परीक्षा में असफल होना- अभी सच हो गया है। यह नायक की भावनाओं की पड़ताल करता है। इसमें नायक के अनुभव: असुरक्षा, भय और संदेह शामिल हैं। यह एक 25 वर्षीय लड़के द्वारा अपने भविष्य के अनिश्चितताओं और संदेह से पार पाने की कहानी है।
जब उनसे पूछा गया कि ऐसी क्या चीज थी जिसने उन्हें कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित किया तब वो कहते हैं, ” मेरे पहले प्रयास में मैं परीक्षा पास नहीं कर सका और उसी ने कुछ बेहतर करने के लिए प्रेरणा का काम किया। तब तक, किसी भी महत्वपूर्ण विफलता से मेरी मुलाकात नहीं हुई थी, और इसलिए, यह एक समय था जिसे मैंने आत्मनिरीक्षण में और बेहतर करने के लिए अपने विचारों को इकट्ठा किया।” वह आगे कहते हैं, “मैंने सोचा कि भविष्य के उम्मीदवारों के साथ अपने अनुभव को साझा करना एक अच्छा विचार होगा लेकिन एक काल्पनिक प्रारूप में जो एक ज्ञापन या जीवनी से अधिक अपील करता है।”
अपने किताब में डॉ विजय कार्तिकेयन आईएएस कोचिंग सेंटर की हलचल दुनिया के बारे में भी लिखते हैं। पुस्तक लिखने में डॉ विजय कार्तिकेयन हमें उन लोगों की एक झलक देते हैं जो अपने युवावस्था को अपनी परीक्षाओं की तैयारियों में गुजार देते हैं।
अगर आप इस पुस्तक को पढ़ने के इच्छुक हैं तो इस लिंक पर क्लिक करें।
https://www.amazon.in/Once-Upon-IAS-Exam-Vijayakarthikeyan/dp/9353045959
Source- The Better India
Written By- Shravan Pandey
No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.

युवा देश से जुड़ी समाजिक सरोकार रखने वाली खबर, आम आदमी से जुड़े खास मुद्दों के करीब, बेवज़ह और बेतुके के ड्रामे से दूर, हवा हवाई बातों के इतर जमीनी हकीकत से जुड़ी खबरों को देखने के लिए सब्सक्राइब करे हमारा चैनल युवायु। Contact us: info@uvayu.com