यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम पास करने वाली केरल की पहली आदिवासी महिला बनी श्रीधन्या सुरेश

यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम के लिए परिणामों की घोषणा कर दी गई है। इसी परीक्षा में पास होने वालों में एक नाम है श्रीधन्या सुरेश (Sreedhanya Suresh)। श्रीधन्या सुरेश (Sreedhanya Suresh) यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम को पास करने वाली केरल की पहली आदिवासी महिला बन गई हैं। वायनाड में पोझुथना पंचायत की रहने वाली 25 वर्षीय इस आदिवासी महिला की राष्ट्रीय रैंक 410 है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, श्रीधन्या कुरिचिया समुदाय (Kurichiya community) से हैं। यह समुदाय एक मातृसत्तात्मक जनजाति है। अपनी उपलब्धि के बारे में खुश होकर श्रीधन्या ने कहा, “मुझे बहुत खुशी है कि मैं सिविल सेवा परीक्षा में सफल हो पाई। मेरे परिवार के सदस्य भी उतने ही उत्साहित हैं।”

इस युवा आदिवासी महिला को उम्मीद है कि उनकी यह उपलब्धि आदिवासी समुदाय के अन्य सदस्यों को भी सिविल सर्वेंट बनने के लिए प्रेरित करेगी। श्रीधन्या ने कहा, “मैं राज्य के सबसे पिछड़े जिले से हूँ। यहाँ से कोई आदिवासी आईएएस अधिकारी नहीं हैं। यहाँ तक कि यहाँ पर बड़ी जनजातीय आबादी भी है। जिले में विशेष रूप से सामान्य और आदिवासी समुदायों में वायनाड से सिविल सेवा परीक्षा में बैठने वाले उम्मीदवारों की संख्या बहुत कम है। मुझे उम्मीद है कि यह और लोगों को आगे आने का आग्रह करेगा।”

जूलॉजी के एक स्टूडेंट के रूप में उन्होंने Kozhikode में St Joseph’s College Devagiri से ग्रेजुएशन किया। इसके बाद Calicut University से पोस्ट ग्रेजुएशन कंप्लीट की। और, अपने तीसरे प्रयास में सिविल सर्वेंट बन गईं। स्क्रॉल की रिपोर्ट के मुताबिक, श्रीधन्या अपने हायर स्टडीज के लिए बाहर जाने से पहले परिवार के छह सदस्यों के साथ रहती थी।

श्रीधन्या के माता-पिता दिहाड़ी मजदूर हैं और अपने परिवार के लिए स्थानीय बाजार में धनुष और तीर बेचते हैं। वायनाड के उपजिलाधिकारी एनएसके उमेश ने श्रीधन्या की उपलब्धि पर टिप्पणी करते हुए कहा, “हमें उन पर बहुत गर्व है। पिछले वर्ष के रुझानों के अनुसार, उन्हें IAS में शामिल होने में सक्षम होना चाहिए।”

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी श्रीधन्या को उनके इस महान उपलब्धि के लिए बधाई दी और उनके प्रयासों में उनकी सफलता की कामना की। विशेष रूप से, केरल के 25 उम्मीदवारों ने यूपीएससी परीक्षाओं में सेंध लगाई है। उनमें से दो को शीर्ष 100 रैंक-धारकों की सूची में भी शामिल होने का मौका मिला है।

~Shravan Pandey

No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.

युवा देश से जुड़ी समाजिक सरोकार रखने वाली खबर, आम आदमी से जुड़े खास मुद्दों के करीब, बेवज़ह और बेतुके के ड्रामे से दूर, हवा हवाई बातों के इतर जमीनी हकीकत से जुड़ी खबरों को देखने के लिए सब्सक्राइब करे हमारा चैनल युवायु। Contact us: info@uvayu.com