राष्ट्रपति पुतिन की नई लिमोजिन, दुनिया की सबसे हाईटेक कार

445

राष्ट्रपति पुतिन की नई लिमोजिन, दुनिया की सबसे हाईटेक कार

65 साल के पुतिन सोमवार को चौथी बार रूस के राष्ट्रपति बने। व्लादिमीर पुतिन का सफर एक केजीबी अधिकारी से होते हुए वैश्विक नेता बनने तक का है। आज रूस की ताकत का अंदाज़ा पूरे विश्व को है। सोमवार को जब पुतिन शपथ लेने पहुंचे तब उनकी एंट्री देखते ही बन रही थी। इस कार्यक्रम के लिए 1991 के बाद पहली बार स्पेशल लिमोज़ीन कार  तैयार करवाई गयी थी। यह कार राष्ट्रपति पुतिन के लिए रूस में ही तैयार की गयी थी।

सेफ्टी और हाईटेक फीचर्स मौजूद

पुतिन के इस नई कार में पिछली गाड़ी की अपेक्षा कई सेफ्टी और हाईटेक फीचर्स मौजूद हैं। 860 घोड़ों की शक्ति यानी हॉर्सपावर वाली यह कार बेहद  हाईटेक और मज़बूत है। रूस की मीडिया के मुताबिक, इस कार को ‘प्रोजेक्ट कॉर्टेज’ के तहत तैयार किया गया है और इस ‘प्रोजेक्ट में करीब 12.4 बिलियन रुबेल यानी कि भारतीय करंसी के अनुसार, 13 अरब रुपए खर्च हुए हैं।


मुख्‍य फीचर्स

इस रूसी लिमोजिन का साइज 6,000 mm से अधिक है और यह एक मल्टीपर्पज कार है। बाजार में बिक्री के लिए भी इस कार को जल्द उतारा जाएगा। इस लिमोजिन का मुकाबला मेनली मर्सडीज मायबैक, बेंटली, रोल्ज रॉयस की लग्जरी कारों से है। इसमें 4.4 लीटर टर्बोचार्ज्ड इंजन है जो कि 600 हॉर्सपावर की ताकत जनरेट करता है। इंजन को 9 स्पीड आटोमैटिक गियरबॉक्स से लैस किया गया है।

पिछले साल से रूस में बन रही लिमोजिन

यह कार सोवियत संघ के वक्त की याद दिलाती है। उन दिनों सोवियत के लीडर जिल लिमोजिन में घूमते थे। जिस गाड़ी में रूसी राष्ट्रपति पुतिन आए, वह लिमोजिन 2013 से बनाई जा रही थी। लेकिन इसके सेफ्टी फीचर्स और टेक्नोलॉजी को लेकर अलग से प्रोजेक्ट बनाया गया। पिछले साल ही इसका प्रोडक्शन रूस में शुरू कर दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here