समलैंगिक विवाह कानून को मंजूरी देने वाला एशिया का पहला देश बना ताइवान

एक स्व-शासित द्वीप, ताइवान ने एक ऐतिहासिक कदम उठाते हुए समलैंगिक विवाह कानून को मंजूरी दे दी है। ऐसा करने वाला ताइवान एशिया का पहला देश है। ताइवान के कानूनविदों ने 17 मई को एक विधेयक को मंजूरी दी थी। यह विधेयक समान विवाह को वैध बनाता है।

अलजजीरा की खबर के मुताबिक, कानून निर्माताओं ने समान लिंग वाले जोड़ों को ‘अनन्य स्थाई यूनियन’ बनाने की अनुमति देने वाले कानून और सरकारी एजेंसियों के साथ ‘विवाह पंजीकरण’ के लिए आवेदन करने वाले एक दूसरे खंड को पारित किया। वोट के बाद इस समाचार को साझा करने के लिए ताइवान के राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन (Tsai Ing-wen) ने ट्विटर का रुख किया।

CNN के मुताबिक, ताइवान के संवैधानिक अदालत द्वारा 2017 में फैसला सुनाए जाने के 2 साल बाद वोट किया गया है। इस फैसले में कहा गया था कि ताइवान के कानून में समान-लिंग जोड़ों को शादी करने से रोकना उनकी व्यक्तिगत स्वतंत्रता और समान सुरक्षा का उल्लंघन है।

न्यायाधीशों के पैनल ने सरकार को नया संशोधन करने या नए नियम को लागू करने के लिए 2 साल का समय दिया था। यही वजह है कि 17 मई को ताइवान के विधायी युआन (Yuan) में कानूनविदों ने समान विवाह को एक वास्तविकता बनाने वाले एक विधेयक को पारित किया, जो 24 मई से लागू हो जाएगा।

बिल के पास होने के बाद लोगों में खुशी का माहौल, कहा- एशिया में पहली बार

वोटिंग से पहले ताइवान की पार्लियामेंट में तीन अलग-अलग बिल को कंसीडर किया गया। हालांकि, कंजरवेटिव लॉमेकर्स द्वारा सबमिट किए गए दो अन्य वर्जन ने ‘मैरिज’ शब्द से परहेज किया और ‘सेम-सेक्स पार्टनरशिप’ को ‘सेम-सेक्स फैमिली रिलेशनशिप’ या ‘सेम-सेक्स यूनियन’ के तौर पर डिस्क्राइब किया। लेकिन ताइवान की सरकार द्वारा पेश किए गए एक मात्र बिल ने ‘मैरिज’ शब्द का इस्तेमाल किया, जो सेम-सेक्स रिलेशनशिप को परिभाषित करता है। इस बिल को मेजोरिटी डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी द्वारा समर्थन मिला।

चूँकि, विधायक बिलों की एक सीरीज पर मतदान करने के लिए तैयार थे। इसलिए हजारों समलैंगिक अधिकार समर्थक राजधानी ताइपे में संसद के बाहर इकट्ठा हुए। उस समय भारी बारिश भी हो रही थी। इसके बावजूद ये लोग इंद्रधनुष के रंग का प्ले कार्ड लेकर कार्यवाही का सीधा प्रसारण देखने के लिए जुटे हुए थे। बिल पास होने के बाद सभी समर्थक खुशी से झूम उठे और जोर से चिल्लाए “First in Asia!”। जैसे ही ताइवान के पार्लियामेंट में बिल पास हुआ लोग अपनी खुशी को व्यक्त करने के लिए टि्वटर पर आए।

~Shravan Pandey

No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.

युवा देश से जुड़ी समाजिक सरोकार रखने वाली खबर, आम आदमी से जुड़े खास मुद्दों के करीब, बेवज़ह और बेतुके के ड्रामे से दूर, हवा हवाई बातों के इतर जमीनी हकीकत से जुड़ी खबरों को देखने के लिए सब्सक्राइब करे हमारा चैनल युवायु। Contact us: info@uvayu.com