60 से ज्यादा महिलाओं को शिकार बनाने वाले गैंग के सदस्य का कबूलनामा!

52

तमिलनाडु के कोयंबटूर में एक सेक्स स्कैंडल का बड़ा मामला सामने आया है। पोलाच्ची सेक्स स्कैंडल मामले के तहत 4 लोगों ने 60 से ज्यादा महिलाओं को अपना शिकार बनाया और उनका शारीरिक शोषण किया। खबर के अनुसार, आरोपी सोशल मीडिया के जरिए पीड़िताओं से दोस्ती करते थे और फिर उनसे मिलने या उन्हें घुमाने के बहाने उनकी आपत्तिजनक तस्वीरें या वीडियो बना लेते थे। इसके बाद आरोपी पीड़िताओं को इन्हीं तस्वीरों और वीडियो के जरिए ब्लैकमेल करते और उनसे पैसे ऐंठते या फिर उनका शारीरिक शोषण करते थे। फिलहाल पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं तमिलनाडु में इस मामले को लेकर हंगामा हो गया है, जिसके बाद मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है।

वहीं आरोपियों का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वह अपना जुर्म कबूल करते दिखाई दे रहे हैं। एनडीटीवी की एक खबर के अनुसार, यह वीडियो स्थानीय लोगों द्वारा शूट किया गया है, जिसमें वह 2 आरोपियों से मामले को लेकर पूछताछ कर रहे हैं।

फेसबुक पर लालच देकर फंसाता था गैंग
पुलिस ने बताया कि जांच में सामने आया कि इन युवकों का यह गैंग इस तरह की लगभग 50 घटनाओं को अंजाम दे चुका है। बताया जा रहा है कि यह गैंग पहले लड़कियों को फेसबुक पर लालच देकर उन्‍हें फंसाता था और उनके साथ जबरन यौन उत्‍पीड़न करके उनका विडियो बना लेता था। उसके बाद कई बार इन लड़कियों का उत्‍पीड़न होता था। इस गैंग को पॉवरफुल बिजनसमैन और नेताओं का संरक्षण मिला हुआ था। उधर, एआईएडीएमके ने अपने आरोपी सदस्‍य को पार्टी से निकाल दिया है।

पुलिस क्या कह रही है?
कोयंबटूर के डीएसपी पंड्याराजन ने मीडिया से बातचीत में कहा कि राज्य सरकार इस मामले में कोई दख़ल नहीं दे रही है.

पुलिस का कहना है उन्होंने अभियुक्तों के पास से चार मोबाइल फ़ोन ज़ब्त किए हैं जिनमें चार लड़कियों के वीडियो हैं.

वीडियो में दिख रही दो लड़कियों की पहचान की जा चुकी है और बाकी दो की पहचान होनी बाकी है. पुलिस के मुताबिक़ जैसे ही बाक़ी दो लड़कियों की पहचान हो जाती है तो उनके बयान लेने की कोशिश करेगी और इसके बाद मामले में गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई की जा सकती है.

पुलिस अधिकारियों ने अपील की है कि अगर कोई ऐसी पीड़िता है तो वो उनसे संपर्क करे. पुलिस ने पीड़िताओं की निजता और संपर्क गोपनीय रखने का वादा किया है.

पुलिस ने कहा, “प्रमुख अभियुक्त तिरुनावकरसु कॉलेज के दिनों से ही ऐसा बर्ताव कर रहा है लेकिन पुलिस अभी ये नहीं बता पाई कि उसने अब तक कुल कितनी लड़कियों का उत्पीड़न किया.”

कई लड़कियों की आत्महत्या की वजह हैं ये वीडियो?

ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक वुमन असोसिएशन ने पोल्लाची इलाक़े में साल 2012 से हुई लड़कियों की आत्महत्या के मामलों की फिर से जांच कराने की मांग की है.

पुलिस अधिकारियों ने भी आश्वासन दिया है कि वो 2012 से अब तक हुए लड़कियों के ख़ुदकुशी के मामलों की फिर से पड़ताल करेंगे और ये जानने की कोशिश करेंगे कि कहीं उन्होंने ऐसे वीडियो की वजह से तो अपनी जान नहीं ले ली.

पुलिस का कहना है कि अगर ऐसा पाया गया तो अभियुक्तों की सज़ा और ज़्यादा कड़ी हो जाएगी.

बताया जा रहा है कि तिरुनावकरसु अपनी कुछ महिला मित्रों की वजह से इतने दिनों तक पुलिस से बचा रहा. हालांकि पुलिस अधिकारियों ने उन महिलाओं की पहचान सार्वजनिक करने से इनकार कर दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here