CMAT, GPAT 2019: 1 नवंबर से शुरू हो रहा है पंजीकरण, परीक्षा 28 जनवरी को, महत्वपूर्ण जानकारियां

220
इस साल राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी(NTA) CMAT, GPAT 2019 के लिए 28 जनवरी को परीक्षा का आयोजन करने जा रही है। 7 जनवरी 2019 से प्रवेश पत्र डाउनलोड किए जा सकेंगे। इन दोनों परीक्षाओं के परिणाम की घोषणा 10 फरवरी 2019 को की जाएगी। सामान्य प्रबंधन प्रवेश परीक्षा(CMAT) और स्नातक फार्मेसी योग्यता परीक्षण(GPAT) के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया 1 नवंबर से शुरू होकर 30 नवंबर 2018 तक चलेगी।
CMAT के लिए पात्रता मापदंड(Eligibility Criteria):-
शैक्षिक योग्यता( Educational Qualification)
◆ आवेदन के लिए इच्छुक सभी उम्मीदवारों को अध्ययन के किसी भी विषय से ग्रेजुएट होना जरूरी है।
◆ ग्रेजुएट कोर्स(10+2+3) के फाइनल ईयर स्टूडेंट्स, जिनका शैक्षणिक सत्र 2018-19 के लिए दाखिला शुरू होने से पहले परीक्षा परिणाम घोषित हो जाएगा, वे भी CMAT ऑनलाइन परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।
ये भी पढ़े- UGC NET 2018: 9 दिसंबर से शुरू हो रही हैं परीक्षाएं, यहाँ जाने समस्त जानकारी
GPAT के लिए पात्रता मापदंड(Eligibility Criteria):-
शैक्षिक योग्यता( Educational Qualification)
◆ इसके लिए उम्मीदवार के पास 10+2 के बाद 4 साल की फार्मेसी की बैचलर डिग्री होना अनिवार्य है। इसमें पार्श्व प्रवेश उम्मीदवार(Lateral Entry Candidates) भी शामिल हो सकते हैं।
◆ B Pharmacy कोर्स फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स भी आवेदन के लिए पात्र होंगे।
◆ B Tech ( Pharmaceutical and Fine Chemical Technology) और उसके समकक्ष स्टूडेंट्स आवेदन के लिए पात्र नहीं होंगे।
ये भी पढ़े- JEE Main 2019: परीक्षा तिथियों की हो गई घोषणा, यहाँ जाने पूरा एग्जाम शेड्यूल
क्या है CMAT?
◆ CMAT हर साल आयोजित होने वाली राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। मैनेजमेंट प्रोग्राम में एडमिशन लेने के लिए इस परीक्षा में उपस्थित होना पड़ता है।
◆ Computer-based ऑनलाइन टेस्ट के लिए 3 घंटे का समय निर्धारित किया गया है। यह सिंगल सेशन में आयोजित की जाती है।
◆ इसमें मात्रात्मक तकनीक, तार्किक विचार, भाषा समझ और सामान्य जागरूकता जैसे विभिन्न खंडों में उम्मीदवार के क्षमता का मूल्यांकन किया जाता है।
◆ 3500 से अधिक AICTE मान्यता प्राप्त B-Schools द्वारा CMAT स्कोर को लेने की संभावना है। इनमें JBIMS, Sydenham, KJ Somaiya, IMT और GIM सहित अन्य शामिल हैं।
◆ ओवरऑल टेस्ट स्कोर और इंडिविजुअल सेक्शनल स्कोर, दोनों परिणाम का निर्धारण करेंगे।
◆ जिनके पास हाइ ओवरऑल टेस्ट स्कोर होगा उन्हें बेहतर रैंक मिलेगा।
◆ व्यक्तिगत वर्गों में छात्रों के प्रदर्शन के आधार पर संबंध तय किए जाएंगे।
◆ जो छात्र मात्रा में बेहतर स्कोर करते हैं उन्हें बेहतर रैंक मिलेगा।
ये भी पढ़े- HRD मिनिस्ट्री ने बदला अपना फैसला, अब नहीं होगा साल में दो बार और ऑनलाइन NEET एग्जाम
क्या है GPAT?
◆ GPAT के लिए परीक्षा का समय 3 घंटे का होगा।
◆ कुल 125 सवाल होंगे। प्रत्येक सवाल के लिए 4 अंक होंगे। इसमें नेगेटिव मार्किंग का सिस्टम होगा।
◆ GPAT में कुल 841 संस्थाएं भाग लेती हैं। ये संस्थाएं उम्मीदवारों को लगभग 24,096 सीट ऑफर करती हैं।
◆ GPAT स्कोर के आधार पर फार्मेसी के फ़ील्ड में  स्कॉलरशिप और अन्य वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।
Latest Education News के लिए uvayu.com के साथ जुड़े रहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here