Dehradun: जांबाज मेजर चित्रेश बिष्ट को विदाई देने उमड़ा जनसैलाब, आँखें हुईं नम

आज जांबाज़ मेजर चित्रेश बिष्ट की आखिरी विदाई के लिए देहरादून में जनसैलाब उमड़ा। लोग मेजर चित्रेश बिष्ट को आखिरी विदाई देने के लिए नम आंखों से उनके घर पर पहुंचे। इंडियन आर्मी के मेजर चित्रेश बिष्ट शनिवार को उस वक्त शहीद हो गए थे जब जम्मू कश्मीर में लाइन आफ कंट्रोल के पास आईईडी डिफ्यूज करते वक्त उसमें ब्लास्ट हो गया।

सोमवार को मेजर चित्रेश बिष्ट का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव उत्तराखंड के देहरादून पहुंचा। पार्थिव शरीर पहुंचने के बाद विदाई देने के लिए भारी तादाद में लोग जमा हुए। मेजर बिष्ट की 7 मार्च को शादी होने वाली थी। 28 फरवरी को वह अपने घर जाने वाले थे। घर में उनकी शादी को लेकर सारी तैयारियां पूरी हो चुकी थी मगर आतंकवादी हमले का शिकार होने के बाद घर में खुशी का माहौल मातम में बदल गया।

31 वर्षीय मेजर बिष्ट इंडियन आर्मी के कॉर्प्स आफ इंजीनियर में नौशेरा सेक्टर में तैनात थे। मेजर बिष्ट ने एक आईईडी को डिफ्यूज कर दिया था मगर जैसे ही दूसरे आईईडी को डिफ्यूज करने गए उसमें जबरदस्त धमाका हुआ जिसकी वजह से वह घायल हो गए। उन्हें आर्मी के हॉस्पिटल पहुंचाया गया मगर हॉस्पिटल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। सोमवार सुबह 8:30 बजे के करीब उनके पार्थिव शरीर को देहरादून के ओल्ड नेहरू कॉलोनी में लाया गया। जहां चीफ मिनिस्टर त्रिवेंद्र सिंह रावत, मंत्री, नेता, आर्मी के जवान, पुलिस और एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर मौजूद थे।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत मेजर बिष्ट के घर पर सुबह करीब 9:30 बजे उनके परिवार के सदस्यों के प्रति संवेदना व्यक्त करने पहुंचे। इनके अलावा सीनियर कांग्रेस लीडर और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी पहुंचे। हरीश रावत मेजर के पिता के पैतृक गांव से ही तालुकात रखते हैं। सुबह 8:00 बजे से ही मेजर के घर के बाहर लोगों का जमावड़ा लगा था। वहां मौजूद कई लोगों के हाथों में मेजर बिष्ट का फोटोग्राफ था। लोग ‘चित्रेश तेरा यह बलिदान, याद करेगा हिंदुस्तान’ और ‘चित्रेश हम शर्मिंदा हैं, तेरे कातिल जिंदा हैं’ का नारा लगा रहे थे। वहां मौजूद लोगों ने पाकिस्तान विरोधी नारे भी लगाए। उन लोगों ने इंडियन आर्मी जिंदाबाद, इंडियन आर्मी बदला लो हम तुम्हारे साथ हैं, जैसे नारेबाजी भी की।

~Shravan Pandey

No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.

युवा देश से जुड़ी समाजिक सरोकार रखने वाली खबर, आम आदमी से जुड़े खास मुद्दों के करीब, बेवज़ह और बेतुके के ड्रामे से दूर, हवा हवाई बातों के इतर जमीनी हकीकत से जुड़ी खबरों को देखने के लिए सब्सक्राइब करे हमारा चैनल युवायु। Contact us: info@uvayu.com