Hooch Tragedy: जहरीली शराब पीने से अब तक हुई 82 मौत, हरकत में आई प्रशासन, 14 अधिकारी निलंबित

59

भले ही उत्तर भारत में ठंड का मौसम हो और पारा लुढ़क रहा हो लेकिन राजनीतिक पारा चढ़ता जा रहा है। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब का सेवन करने की वजह से अब तक 82 लोगों की जान जा चुकी है।

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले से दो और लोगों की मौत की खबर सामने आई है। इन लोगों की मौत एक स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में हुई है। बता दें कि इन लोगों ने जहरीली शराब पी हुई थी। नवीनतम रिपोर्ट के मुताबिक, मरने वालों की संख्या बढ़कर 82 हो गई है। सहारनपुर के इसी अस्पताल में अन्य 40 लोगों का इलाज चल रहा है। इन मौतों की खबर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले और उत्तराखंड के हरिद्वार जिले से सामने आई है।

पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि हरिद्वार और सहारनपुर के बॉर्डर पर तीन से चार गांव के लोग एक तेरहवीं में इकट्ठा हुए थे जहां इन लोगों ने जहरीली शराब का सेवन किया था बता दे कि तेरहवीं हिंदू धर्म में एक रिवाज है जो किसी व्यक्ति के मृत्यु के बाद 13वें दिन किया जाता है।

डायरेक्टर जनरल लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार ने कल मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा था कि पीड़ित लोगों ने समारोह के बाद जहरीली शराब का सेवन किया था। एक रिपोर्ट के मुताबिक, मेरठ से 18, सहारनपुर से 36, रुड़की से 20 और कुशीनगर से 8 लोगों की मौत की खबर सामने आई है।

कल मौत की खबरें तब सामने आने लगीं जब शराब का सेवन किये हुए लोग अपने गाँव लौट कर आए। चूंकि उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं, इसलिए राज्य सरकार और पुलिस ने एक जिला आबकारी अधिकारी, दो आबकारी निरीक्षकों, दो आबकारी सिपाहियों के साथ तीन पुलिस उप-निरीक्षकों और छह हवलदारों को निलंबित कर दिया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी), दिनेश कुमार ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि मामले की जांच के लिए पुलिस कर्मियों की तीन टीमों का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि जिम्मेदार लोगों को बख्शा नहीं जाएगा और स्थानीय कानून प्रवर्तन इस संबंध में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। नवीनतम घटनाओं से पता चलता है कि 11 लोगों के पोस्टमार्टम अभी तक किए गए हैं। जबकि उत्तर प्रदेश में 68 लोगों की मौत हो गई है, जबकि उत्तराखंड में पड़ोसी हरिद्वार जिले से अब तक 14 अन्य की मौत हो गई है।

~Shravan Pandey

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here