HRD मिनिस्ट्री ने बदला अपना फैसला, अब नहीं होगा साल में दो बार और ऑनलाइन NEET एग्जाम

मानव संसाधन विकास(HRD) मंत्रालय ने आज मंगलवार को अपना फैसला वापस ले लिया है। अब नए फैसले के अनुसार, राष्ट्रीय योग्यता सह प्रवेश परीक्षा(NEET) एक साल में दो बार और ऑनलाइन नहीं होगा। गौरतलब है कि, महीने भर पहले HRD मंत्रालय ने साल 2019 से NEET एग्जाम साल में दो बार और ऑनलाइन कराने का फ़ैसला लिया था। अब परीक्षा पेन और पेपर मोड में कराई जाएगी न कि ऑनलाइन।
ये भी पढ़े- CMAT, GPAT 2019: 1 नवंबर से शुरू हो रहा है पंजीकरण, परीक्षा 28 जनवरी को, महत्वपूर्ण जानकारियां
NEET 2019 के लिए 1 नवंबर से शुरू होगी पंजीकरण की प्रक्रिया
इससे पहले यह खबर आई थी कि NEET के आयोजन में किसी भी बदलाव को दूर करने की मानव संसाधन विकास मंत्रालय की उत्सुकता स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा प्रभावित है। इसमें इस बात का डर दिखाया गया था कि ऑनलाइन ( read computer-based) टेस्ट से ग्रामीण और आर्थिक रूप से ग़रीब परिवारों के स्टूडेंट्स को नुकसान होगा। NEET 2019 के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया 1 नवंबर से शुरू होगी। परीक्षा का आयोजन 5 मई को किया जाएगा। जबकि, संयुक्त प्रवेश परीक्षा(JEE) साल में दो बार आयोजित की जाएगी।
ये भी पढ़े- UGC NET 2018: 9 दिसंबर से शुरू हो रही हैं परीक्षाएं, यहाँ जाने समस्त जानकारी
NEET 2019 से जुड़ी कुछ आवश्यक जानकारियां:-
● 1 नवंबर से 30 नवंबर 2018 तक चलेगी ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया।
● 15 अप्रैल 2019 को प्रवेश पत्र डाऊनलोड किया जा सकेगा।
● 5 मई 2019 को परीक्षा का आयोजन किया जाएगा।
● 5 जून 2019 को परीक्षा परिणाम घोषित किए जाएंगे।
ये भी पढ़े- JEE Main 2019: परीक्षा तिथियों की हो गई घोषणा, यहाँ जाने पूरा एग्जाम शेड्यूल
अब राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन कर सकेगी NTA
6 जुलाई को प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने घोषणा की थी कि नव निर्मित राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी(NTA) अब NET, NEET और JEE (Mains) जैसी राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन कर सकेगी। पहले इन परीक्षाओं का आयोजन माध्यमिक शिक्षा के केंद्रीय बोर्ड(CBSE) द्वारा कराया जाता था। प्रकाश जावड़ेकर द्वारा जारी किए गए परीक्षा कैलेंडर के मुताबिक, JEE (मुख्य परीक्षा) जनवरी और अप्रैल में आयोजित की जाएगी। फरवरी और मई में NEET के आयोजन की संभावना थी। राष्ट्रीय योग्यता परीक्षण(NET) का आयोजन दिसम्बर महीने में किया जा सकेगा।
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बनाई थी 8 समस्याओं की सूची
स्वास्थ्य मंत्रालय ने तीन दिन के भीतर मानव संसाधन विकास मंत्रालय को एक चिट्ठी भेजी। जिसमें कहा गया कि NEET को लेकर की गई सार्वजनिक सूचना की घोषणा उनके साथ बिना औपचारिक परामर्श के की गई। अपने चिट्ठी में स्वास्थ्य मंत्रालय ने जावड़ेकर के घोषणा के कारण प्रत्याशित 8 समस्याओं की सूची बनाई। स्वास्थ्य मंत्रालय को टेस्ट के ऑनलाइन मोड आयोजन से ग़रीब और ग्रामीण क्षेत्रों के स्टूडेंट्स को होने वाले नुकसान के अलावा NEET के घोषित कैलेंडर से भी समस्या थी।
Latest Education News के लिए uvayu.com के साथ जुड़े रहिए।
No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.

युवा देश से जुड़ी समाजिक सरोकार रखने वाली खबर, आम आदमी से जुड़े खास मुद्दों के करीब, बेवज़ह और बेतुके के ड्रामे से दूर, हवा हवाई बातों के इतर जमीनी हकीकत से जुड़ी खबरों को देखने के लिए सब्सक्राइब करे हमारा चैनल युवायु। Contact us: info@uvayu.com