Kolkata police-CBI fight: ममता के बंगाल में हाई वोल्टेज सियासी ड्रामा, ममता को विपक्ष का एकजुट समर्थन

81

पश्चिम बंगाल में Kolkata police-CBI fight में नाटकीय घटनाक्रम का दौर जारी है। इस समय पश्चिम बंगाल में हाई वोल्टेज का सियासी ड्रामा चल रहा है। स्थिति तो ऐसी बन गई है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी धरने प्रदर्शन पर बैठ गई हैं।

इस हाई वोल्टेज सियासी ड्रामे की जड़ वह चिट फंड घोटाला है, जिसके सिलसिले में CBI, कोलकाता पुलिस प्रमुख से पूछताछ करने गई थी। ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि वह अपना “सत्याग्रह” देश और अपने संविधान को “बचाए” जाने तक जारी रखेंगी।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रात को खाना नहीं खाया, पूरी रात जगी रहीं। उनके इस विरोध प्रदर्शन में उनके पार्टी के वरिष्ठ मंत्रियों और सदस्यों ने उनका भरपूर सहयोग दिया है। धरना के स्थल पर ममता ने पत्रकारों से कहा कि यह सत्याग्रह है और मैं इसे तब तक जारी रखूँगी जब तक देश बच नहीं जाता।

ममता बनर्जी ने कहा कि उन्हें उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और गुजरात के विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी सहित कई राजनेताओं के फोन आ रहे थे।

जब ममता से पूछा गया कि क्या कोई नेता उनके समर्थन में राज्य में आएगा? तब ममता बनर्जी ने कहा कि इस बारे में मुझे कोई आईडिया नहीं है। अग़र कोई आना चाहता है तो हम उसका स्वागत करते हैं। यह लड़ाई मेरी पार्टी की नहीं है। यह मेरी सरकार के लिए है। विभिन्न जिलों के कई पार्टी समर्थकों ने बनर्जी के समर्थन में नारे लगाए।

रविवार शाम एक अभूतपूर्व घटनाक्रम में, ममता बनर्जी चिट फंड घोटालों के सिलसिले में कोलकाता पुलिस के प्रमुख राजीव कुमार से CBI द्वारा पूछताछ के प्रयास का विरोध करते हुए एक धरने पर बैठ गईं। CBI की एक टीम शहर के लाउडन स्ट्रीट इलाके में कुमार के निवास पर गई थी। उस टीम को अनुमति नहीं दी गई और पुलिस की जीप में भरकर उसे पुलिस स्टेशन में पहुंचा दिया गया।

CBI कुमार को हिरासत में लेना चाहती है, जिसने गुम दस्तावेजों और फाइलों के बारे में घोटाले की जांच कर रही पश्चिम बंगाल पुलिस की एक विशेष जांच टीम का नेतृत्व किया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, केजरीवाल, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एम चंद्रबाबू नायडू, आर जे डी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद सहित कई राजनीतिक नेता बनर्जी के समर्थन में सामने आए हैं।

राहुल गांधी ने बनर्जी को फोन किया और उन्हें समर्थन देते हुए कहा कि पूरा विपक्ष एक साथ है और यह फासीवादी ताकतों को हरा देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here