Kumbh Mela 2019: पीएम मोदी ने पैर धोए, अब आप सोच धो लें

78

यह तो इस देश में हर राजनेता करता ही है। लेकिन, राजनीति करने के दौरान कभी-कभार कुछ नेता ऐसा कुछ कर जाते हैं कि जिसे देखकर आम आदमी का दिल बाग-बाग हो जाता है। कल रविवार 24 फरवरी को ऐसा ही एक दृश्य टीवी पर देखने को मिला। जब स्वच्छता जैसे अति महत्वपूर्ण मगर लंबे समय तक नजरअंदाज किए गए विषय को राष्ट्रीय पटल पर लाकर ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के तहत उसे जन आंदोलन की शक्ल देने वाले पीएम मोदी प्रयागराज के कुंभ में सफाई कर्मचारियों के पैर धोने लगे।

देश के प्रधानमंत्री द्वारा सफाई कर्मचारियों के पैर धोने की घटना सचमुच एकदम अद्भुत और बेहद वंदनीय है। क्योंकि, इस तरह की घटना न सिर्फ पीएम मोदी के व्यक्तित्व की सादगी को परिलक्षित करती है वरन ऐसा कदम समाज में सफाई कर्मचारियों के प्रति हीन भावना पर कुठाराघात भी करता है। प्रधानमंत्री द्वारा सफाई कर्मचारियों के पैर धोने की घटना से अगर समाज की इनके प्रति गलत सोच भी धूल जाए तो फिर इससे बेहतर और क्या होगा। वैसे, संभवतः पीएम मोदी का उद्देश्य भी यही रहा होगा।

सफाई कर्मचारियों के काम की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए पीएम मोदी ने कुंभ की स्वच्छता का सारा श्रेय इन्हें ही दिया। पीएम ने कुंभ में सफाई अभियान की तारीफ करते हुए कहा, “22 करोड़ लोगों के बीच सफाई बड़ी जिम्मेदारी थी, आपने साबित किया कि दुनिया में नामुमकिन कुछ भी नहीं। ये सफाईकर्मी बिना किसी की प्रशंसा के चुपचाप अपना काम कर रहे थे। लेकिन इनकी मेहनत का पता मुझे दिल्ली में लगातार मिलता रहता था। लोग कुंभ की भूरि-भूरि प्रशंसा कर रहे हैं। इस प्रशंसा के हकदार आप हैं।”

ऐसा नहीं है कि पीएम मोदी ने सफाईकर्मियों के पैर धोने तक खुद को सीमित रखा। उन्होंने सफाई कर्मचारियों के लिए स्वच्छ सेवा कोष की घोषणा भी की। इस दौरान उन्होंने कहा, “आज स्वच्छ सेवा कोष की भी घोषणा की गई है। इस कोष से आपके परिवार को विशेष परिस्थितियों में मदद सुनिश्चित हो पाएगी। यह देशवासियों की तरफ से आपका आभार है। इस बार कुंभ की पहचान स्वच्छ कुंभ के तौर पर हुई तो केवल सफाई कर्मचारियों के कारण यह संभव हो सका।”

रविवार, 24 फरवरी का दिन सर्वहारा समाज के लिए बेहद खास रहा। एक तरफ गोरखपुर में जहां पीएम मोदी ने छोटे और सीमांत किसानों को हर साल 6000 रुपए सहायता राशि देने वाली प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का शुभारंभ किया। जिसके तहत 2 हेक्टेयर से कम जमीन वाले किसानों को दो-दो हजार की तीन किस्तों में सालाना 6 हजार रुपए दिए जाएंगे। और फिर इसके बाद जब मोदी जी प्रयागराज आए तब उन्होंने कुंभ में स्वच्छता बनाए रखने वाले सफाई के सिपाहियों का सम्मान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here