वीर सपूत को नमन: भारत माता की जय के साथ विदा हुए जांबाज DSP अमन ठाकुर

आज 25 फरवरी को DSP Aman Thakur को स्थानीय लोगों ने आखिरी विदाई दी। नम आँखों से विदाई देते हुए वहां मौजूद लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाए। इसके अलावा लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये। कल, रविवार को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में हुए एनकाउंटर में DSP Aman Thakur शहीद हो गए थे। वही इस एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकियों का सफाया कर दिया गया था। यह एनकाउंटर कुलगाम के तुरिगाम इलाके में हुआ। पुलिस को ख़ुफ़िया जानकारी मिली थी कि इलाके के एक रेजिडेंशियल हाउस में आतंकवादी छिपे हुए हैं। जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चलाया गया।

आतंकियों के फायरिंग के दौरान DSP Aman Thakur गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उन्हें गर्दन में गंभीर चोट आयी थी। उसके बाद उन्हें इलाज के लिए आर्मी के हॉस्पिटल ले जाया जा रहा था मगर उन्होंने दम तोड़ दिया। जम्मू इलाके के डोडा जिले के रहने वाले DSP Aman Thakur 2011 बैच के जम्मू कश्मीर पुलिस सर्विसेज के ऑफिसर थे।

बहादुर पुलिस ऑफिसर अमन ठाकुर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के साथ हो रहे एनकाउंटर की अगुवाई कर रहे थे। DSP Aman Thakur को आतंकियों गतिविधियों से त्रस्त कुलगाम में दो साल पहले बतौर DSP नियुक्त किया गया था। उस इलाके में उन्होंने कई आतंक विरोधी ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया था। उन्हें पिछले महीने ही DGP के कमेंडेशन मैडल और अनुकरणीय सेवा के लिए सर्टिफिकेट दिया गया था।

अमन के करीबियों ने बताया कि उसका खाकी के प्रति इतना प्रेम था कि इसके लिए उन्होंने पहले दो सरकारी नौकरियां छोड़ दीं। पहली नौकरी सोशल वेलफेयर विभाग तथा दूसरी लेक्चरर के पद पर की थी। वह जूलोजी में मास्टर डिग्री लिए थे। डीजीपी दिलबाग सिंह ने भावुक होते हुए कहा कि अमन निडरतापूर्वक हमेशा अपनी टीम को लीड करने के लिए तैयार रहते था।

~Shravan Pandey

No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.

युवा देश से जुड़ी समाजिक सरोकार रखने वाली खबर, आम आदमी से जुड़े खास मुद्दों के करीब, बेवज़ह और बेतुके के ड्रामे से दूर, हवा हवाई बातों के इतर जमीनी हकीकत से जुड़ी खबरों को देखने के लिए सब्सक्राइब करे हमारा चैनल युवायु। Contact us: info@uvayu.com