Subramanian Swamy: प्रियंका गांधी हिंसक चरित्र वाली, लोगों को पीटती है

68

भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ( Subramanian Swamy ) ने अपने सनसनीखेज और विवादास्पद बयानों की लंबी सूची में एक बयान और जोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी बाइपोलर डिसऑर्डर से पीड़ित हैं और वह लोगों की पिटाई करती हैं।

खास बातें:-
1. स्वामी ने दावा किया कि प्रियंका की ‘बीमारी’ उन्हें सार्वजनिक जीवन जीने के लायक नहीं बनाती है।
2. स्वामी ने सुझाव दिया कि वह अपना मानसिक संतुलन खो देगी।
3. स्वामी ने दावा किया कि उनके पास एक ‘हिंसक चरित्र’ है।

ANI से बात करते हुए Subramanian Swamy ने कहा, “उसको एक बीमारी है जो सार्वजनिक जीवन में अनुकूल और उपयुक्त नहीं है। उसको बाइपोलरीटी कहते हैं यानि उसकी हिंसावादी चरित्र दिखाई पड़ती है, लोगों को पीटती है। पब्लिक को पता होना चाहिए कि कब संतुलन खो बैठेगी, किसीको पता नहीं।”

हाल ही में सक्रिय राजनीति में प्रवेश करने के बाद यह पहली बार नहीं है जब प्रियंका गांधी को भाजपा नेताओं ने निशाना बनाया है। भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने शनिवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश के महासचिव के रूप में प्रियंका गांधी वाड्रा की नियुक्ति को लेकर कांग्रेस पार्टी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह पार्टी में मजबूत नेताओं की कमी है, जिसने इसे 2019 लोकसभा चुनाव गौरव के लिए “चॉकलेटी” चेहरों पर निर्भर बनाया है।

बिहार के मंत्री विनोद नारायण झा ने हाल ही में कहा था कि सुंदर चेहरों के आधार पर वोट नहीं जीते जा सकते हैं। झा ने यह भी बताया कि वह रॉबर्ट वाड्रा की पत्नी हैं, जिन पर भूमि घोटाला मामले और कई भ्रष्टाचार के मामलों में शामिल होने का आरोप है। उनके सटीक शब्द थे: “वह बहुत सुंदर है। लेकिन इसके अलावा वह कोई राजनीतिक उपलब्धि या प्रतिभा नहीं रखती है।”

23 जनवरी को, प्रियंका गांधी वाड्रा को पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए कांग्रेस के महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया था। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लोकसभा क्षेत्र पूर्वी यूपी में ही आते हैं। प्रियंका गांधी की नियुक्ति के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, “मुझे बहुत खुशी है कि मेरी बहन प्रियंका लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में मेरी मदद करेंगी, वह बहुत सक्षम हैं।”

~Shravan Pandey

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here