Shivaji Jayanti: छत्रपति शिवाजी के यह 10 विचार बदल देंगे आपका जीवन

35

छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) की आज जयंती है। शिवाजी महाराज (Shivaji Maharaj) का पूरा नाम शिवाजी राजे भोसले था। उनका जन्म 19 फरवरी 1630 को महाराष्ट्र के शिवनेरी दुर्ग में हुआ था। कई लोगों का मानना है कि शिवाजी का नाम भगवान शिव के नाम से लिया गया है लेकिन असल में यह नाम क्षेत्रीय देवता शिवई के नाम से लिया गया है। शिवाजी एक धर्मनिरपेक्ष शासक थे। उनकी सेना के कई महत्वपूर्ण पदों पर मुस्लिम भी थे।

छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्म 19 फरवरी 1627 को मराठा परिवार में शिवनेरी (महाराष्ट्र) में हुआ। शिवाजी के पिता शाहजी और माता जीजाबाई थीं। उन्होंने भारत में एक सार्वभौम स्वतंत्र शासन स्थापित करने का प्रयत्न स्वतंत्रता के अनन्य पुजारी वीर प्रवर शिवाजी ने भी किया था। वे एक भारतीय शासक थे जिन्होंने मराठा साम्राज्य खड़ा किया था इसीलिए उन्हें एक अग्रगण्य वीर एवं अमर स्वतंत्रता-सेनानी स्वीकार किया जाता है। शिवाजी की लड़ाई को धर्मयुद्ध के तौर पर देखा जाता है, लेकिन ऐसा नहीं था। वह अपनी राज्य की रक्षा के लिए युद्ध करते थे।

आज छत्रपति शिवाजी के जन्मदिन के मौके पर जानते हैं उनके प्रेरक विचारों के बारे में।

1- स्वतंत्रता एक वरदान है, जिसे पाने का अधिकारी हर कोई है।

2- यदि एक पेड़, जोकि इतनी उच्च जीवित सत्ता नहीं है, इतना सहिष्णु और दयालु हो सकता है कि किसी के द्वारा मारे जाने पर भी उसे मीठे आम दे; तो एक राजा होकर, क्या मुझे एक पेड़ से अधिक सहिष्णु और दयालु नहीं होना चाहिए?

3- नारी के सभी अधिकारों में, सबसे महान अधिकार माँ बनने का है।

4- कभी अपना सर मत झुकाओ, हमेशा उसे ऊँचा रखो।

5- भले हर किसी के हाथ में तलवार हो, यह इच्छाशक्ति है जो एक सत्ता स्थापित करती है।

6- एक छोटा कदम छोटे लक्ष्य पर, बाद मे विशाल लक्ष्य भी हासिल करा देता है।

7- जरुरी नही कि विपत्ति का सामना, दुश्मन के सम्मुख से ही करने मे वीरता हो। वीरता तो
विजय मे है।

8- जब हौसले बुलन्द हो, तो पहाड़ भी एक मिट्टी का ढेर लगता है।

9- सर्वप्रथम राष्ट्र, फिर गुरु, फिर माता-पिता, फिर परमेश्वर। अतः पहले खुद को नही राष्ट्र को देखना चाहिए।

10- अगर मनुष्य के पास आत्मबल है, तो वो समस्त संसार पर अपने हौसले से विजय पताका लहरा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here